WhatsApp Group Join Now

Telegram Group Join Now

राजस्थान के प्रमुख लोक देवता (Rajasthan ke Pramukh Lok Devta)

राजस्थान के प्रमुख लोक देवता

समाज सुधार कार्य, मानव सेवा, वन संरक्षक, पशु धन की रक्षा, गुरुभक्ति, वचन पालन जैसे मूल्यों के लिए, जीवन देने वाले अनेक महापुरुष राजस्थान में लोक देवता एवं संत के रूप में पूजनीय है। सामाजिक एवं धार्मिक कारणों से राजस्थान में लोकदेवताओं का उदय हुआ। ये लोकदेवता साम्प्रदायिक सद्भाव के प्रणेता थे।

पीर  - 

वह लोकदेवता जो सभी धर्मों में समान रूप से पूजनीय हो। पाबू, हरभू, रामदे, मांगलिया, मेहा।पांचू पीर पधारज्यो, गोगाजी जेहा।

पंच पीर

  1. गोगाजी  
  2. पाबूजी  
  3. हड़बूजी
  4. रामदेवजी
  5. मेहाजी मांगलिया
नीचे दिये गए सभी लोक देवता है जिस भी लोक देवता के बार में आपको विस्तार से पढ़ना है उस लोक देवता पर क्लिक करके विस्तार से पढ़ सकते हो।
लोक देवता के नाम Read
1. गोगाजी चौहान Click here
2. पाबू जी राठौड़Click here
3. रामदेवजीClick here
4. हड़बूजीClick here
5. मेहाजीClick here
6. तेजाजीClick here
7. देवनारायणजीClick here
8. वीर कल्लाजी राठौड़Click here
9. मल्लीनाथClick here
10. बाला तल्लीनाथ जीClick here
11. इलोजीClick here
12. देव बाबाClick here
13. रूपनाथ जी या झरड़ा जीClick here
14. वीर फत्ता जीClick here
15. बाबा झुंझारजीClick here
16. वीर बिग्गाजीClick here
17. डूंगजी-जवाहरजीClick here
18. भूरिया बाबा (बाबा गौतमेश्वर)Click here
19. हरिराम बाबाClick here
20. पनराजजीClick here
21. केसरिया कुंवर जीClick here
22. भोमियाजीClick here
23. मामा देवClick here
24. खेतलाजीClick here
25. आलमजीClick here
Next Post Previous Post
No Comment
Add Comment
comment url