WhatsApp Group Join Now

Telegram Group Join Now

3. अपने कंप्यूटर को जानें (Exploring Your Computer) e-Book and Notes

3. अपने कंप्यूटर को जानें (Exploring Your Computer) 

3.1 ऑपरेटिंग सिस्टम (Operating System) 

ऑपरेटिंग सिस्टम एक प्रोग्राम (program) है जो कम्प्यूटर हार्डवेयर (Computer Hardware) और कम्प्यूटर यूजर (User) के बीच मध्यस्था (Intermediary) का कार्य करता है। आपरेटिंग सिस्टम बहुत दक्षता (efficiently) व सरलता (Simplifies) के साथ सभी एप्लीकेशन प्रोग्राम्स को मैनेज करता है | आपरेटिंग सिस्टम यूजर प्रोग्राम को एक्सीक्यूट (Execute) करके यूजर प्रोब्लम को आसानी से हल (solve) करता है।

ऑपरेटिंग सिस्टम एक सिस्टम सॉफ्टवेयर (System Software) है, जो कम्प्यूटर को कार्य करने योग्य बनाता है। यह हमारे द्वारा प्रयोग में लिये जाने वाले सभी प्रोग्रामों को चलाने में सहयोग करता है। ऑपरेटिंग सिस्टम हार्डवेयर को आर्गेनाइज (Organize) तथा कन्ट्रोल करता है। बिना ऑपरेटिंग सिस्टम के कोई भी कम्प्यूटींग डिवाइस (Computing device) काम नहीं कर सकती। अतः ऑपरेटिंग सिस्टम कई डिवाइसों के लिए जरूरी है जैसे कम्प्यूटर, मोबाईल डिवाइस, विडियो गेम और सुपर कम्प्यूटर इत्यादि । डेस्कटॉप आपरेटिंग सिस्टम के कुछ उदहारण यहाँ दिए जा रहे है जैसे माइक्रोसाफ्ट विण्डो, मेक ओएस, लाइनेक्स, यूनिक्स (Microsoft Windows, Mac OS, Linux, UNIX) इत्यादि और मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम के उदाहरण एन्ड्राइड (Android), विण्डो (Windoe), IOS, Symbian इत्यादि है।

चित्र 3.1: कम्प्यूटर सिस्टम की संरचना (Structure of Computer system)

कम्प्यूटर सिस्टम की संरचना में तीन लेयर (3 Layer) होती है:

1. हार्डवेयर (Hardware): 

इसमें सीपीयू (CPU), मैन मेमोरी (Main Memory) और इनपुट आउटपुट डिवाइस (Input, Output Devices ) इत्त्यादि होते है।

2. सिस्टम सॉफ्टवेयर ( System Software): 

ऑपरेटिंग सिस्टम, सिस्टम सॉफ्टवेयर के कम्पोनेन्ट ( Component) होता है। इसमें प्रोसेस मैनेजमेंट (Process Management) रूटीन्स, मेमोरी मैनेजमेंट (Memory Management) रूटीन्स, इनपुट / आउटपुट कन्ट्रोल (I/O Control) रूटीन्स व फाइल मैनेजमेंट (File Management) रूटीन्स इत्यादि शामिल होते है ।

3. एल्पीकेशन सॉफ्टवेयर (Application Software): 

यह ऐसे प्रोग्राम होते है जिन्हें यूजर द्वारा एक ग्राफिकल यूजर इंटरफ़ेस (GUI) के जरिये अपनी जरूरत के अनुसार उपयोग में लिया जाता है तथा कार्य करने हेतु ऑपरेटिंग सिस्टम (Operating System) की आवश्यकता होती है |

चित्र 3.2: ऑपरेटिंग सिस्टम (Operating System)

ऑपरेटिंग सिस्टम के मुख्य कार्य (Function ) निम्न है:

रिसोर्स मैनेजमेंट (Resource management) : 

कम्प्यूटर के लिए सभी साधन (Resources ) उपलब्ध करवाता है जिनमें मुख्यत मेमोरी मैनेजमेंट (Memory Management), प्रोसेसर मैनजमेंट (Processor Management), डिवाइस मैनेजमेंट आदि (Device Management) होते हैं । एक ऑपरेटिंग सिस्टम कई बेसिक कार्य करता है जैसे कि कन्ट्रोलिंग और मेमोरी एलोकेशन (Memory allocation), सिस्टम के अनुरोधों (Request) को प्राथमिकता (priority ) देना, इनपुट-आउटपुट डिवाइस को कन्ट्रोल करना, नेटवर्किंग को सुगम बनाना (facilitating networking) और फाइल सिस्टम को प्रबंधित (Manage) करने की सुविधा, हार्डवेयर और साफ्टवेयर की शेयरिंग (Sharing ) कि अनुमति देना, एप्लीकेशन साफ्टवेयर को पोर्टेबल और बहुमुखी (versatile) बनाना, यूजर के प्रोग्रामों के बीच सुरक्षा और संरक्षण (security and protection) प्रदान करना, एरर ( error) को ढूंढना, फॉल्ट को कम करना, रि-कोनफिगर (reconfiguration) करना ।

एप्लीकेशन और यूजर के बीच इंटरफ़ेस (Interface): 

ऑपरेटिंग सिस्टम एक यूजर के लिए इंटरफ़ेस की तरह कार्य करता है |

प्रोग्राम क्रियान्वयन ( Program Execution ) : 

OS एप्लकेशन प्रोग्राम और मशीन हार्डवेयर के बीच इन्टरफेस की तरह कार्य करता है

त्वरित समीक्षा

  • डेस्कटॉप ओएस (OS ) क्या है? 
  • ओएस (OS) के कार्य क्या हैं?
  • सिस्टम (System) और एप्लिकेशन सॉफ़्टवेयर (Application Software) के बीच अंतर क्या है?

3.2 ग्राफ़िकल यूजर इन्टरफेस (GUI) - डेस्कटॉप (Desktop )

ग्राफिक्स यूजर इन्टरफैस (Graphical user interface) एक माध्यम (Interface) होता है जो कि यूजर को ग्राफिक्स आइक्न (Graphical Icon) का प्रयोग करके इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस (Electronic Device) से संबाद (Interact) करने की सुविधा प्रदान करता है इसके विपरीत कमाण्ड यूजर इन्टरफेस (Command user interface) में कमाण्ड पर आधारित नेविगेशन (Navigation) किया जाता है । ग्राफिक्स यूजर इन्टरफैस का उदाहरण आधुनिक Windows के वर्जन, Linux और Mac आदि है । (Windows 10 एकदम नया वर्जन है) जबकि MS-DOS Unix आदि कमाण्ड लाइन इन्टरफैस का उदाहरण है। 

ग्राफिक्स यूजर इन्टरफैस के साथ आधुनिक Windows आपरेटिंग सिस्टम के वर्जन (version) विभिन्न कार्यों को पूरा करने की क्षमता प्रदान करता है, जैसे:

WYSIWYG:

“What You See Is What You Get” – स्क्रीन पर प्रदर्शित इमेज (टेक्स्ट या कुछ और) आपके पेपर पर प्रदर्शित होने वाली इमेज से हु-बहु मिलनी चाहिए।

इमेज स्कैनिंग (Image scanning): 

स्कैन्ड की गई इमेज का कंप्यूटर स्क्रीन पर तात्कालिक विजुअल रिप्रेजेन्टेशन (Visual representation) इमेज स्केनिंग कहलाता है, ताकि यूजर से तुरंत फीडबैक मिल सके ।

प्रोसेसेबल ग्राफिक्स (Processable Graphics): 

इसके अंतर्गत ऐसे एप्लीकेशन पैकेज जैसे फोटोशोप ( Photoshop) व फायरवर्क्स (Fireworks) जो इमेज को बदल (Manipulate) कर सकते है को शामिल किया गया है

एनीमेशन और मल्टीमीडिया सपोर्ट ( Animations and support for multimedia): 

विजुअल आधारित टीचिंग प्रोसेस से टच सेंसिटिव सूचना की ओस्क (kisosk) तक लगभग सभी प्रकार के एप्लीकेशन में इनका उपयोग होता है ।

दिव्यांग लोगों (disabilities) के लिए प्रावधानः 

डेस्कटॉप के इंटरफ़ेस को दृष्टी बाधित व्यक्तियों के अनुरूप कॉन्फ़िगर करना, कॉन्ट्रास्ट (Contrast ) को सेट करके बैकग्राउण्ड कलर (Background) प्रोवाइड करना ।

विण्डो इन्टरफैस को ग्राफिक्स यूजर इन्टरफेस (GUI) भी कहा जाता है। यह माउस (mouse) अथवा आइकन (Icon ) के द्वारा उपयोग में लिया जाता है। विण्डो के द्वारा किसी विशेष प्रोग्राम और प्रोसेस के द्वारा उपयोग में लेने हेतु एक विण्डो एप्लीकेशन आवंटित किया जाता है जिसमें टाईटल बार, मैन्यू बार और विजेट्स ( title bar, menu bar, and widgets) होते हैं ।

चित्र 3.3: जीयुआई (GUI) 

GUI के लाभ (Advantages): 

सामान्यत ग्राफिक्स यूजर इन्टरफैस (GUI ) पर आधारित आपरेटिंग सिस्टम (OS) को यूजर आसानी से कम्प्यूटर को बिना किसी समस्या के आपरेट (Operate) कर सकते है। यूजर को सीखने में कम समय लगता है उसे बॉक्स को ओपन करके, किट को जोड़ने और कार्य को शुरूकरनें में समय व्यर्थ नहीं करना पड़ता है। यूजर को प्रोम्प्ट्स (prompts), अलर्टस (Alerts), माउस मूवमेंट (Mouse Movement) तथा ऑब्जेक्ट्स पर डबल क्लिक (double-clicking on objects) कर तुरंत प्रतिक्रिया तथा फीडबैक प्राप्त हो जाता है | जीयुआई में गलतियों को आसानी से डिटेक्ट (detect) किया जा सकता है (GUI) और आसानी से सही भी किया जा सकती है। अगर आपने एक बार WIMP (विंडोज, आइकॉन, मेन्यु, पॉइंटर) आधारित ऑपरेटिंग सिस्टम यूज़ करना सीख लिया है तो इसी प्रकार के दुसरे ऑपरेटिंग सिस्टम पर काम करना सरल होता है उदाहरण MAC OSI

GUI से हानि (Disadvantages): 

ग्राफिक्स यूजर इन्टरफैस में अधिक मेमोरी और तेज प्रोसेसर्स(Fast Processors) की आवाश्यकता होती हैं ताकि इमेज को डिस्प्ले और उन्हें मैनुप्लेट किया जा सके । स्किल्ड व्यक्ति उसी कार्य को GUI की तुलना में कम स्टेप्स को करते हुए यूज पूर्ण कर लेने की क्षमता रखते है जैसे कि फाइल को कॉपी करना: CP 

<old file name <new file name>|

कुछ दिव्यांगो (जैसे दृष्टि बाधित आदि ) भी GUI के साथ कार्य करने में दिक्कत महसूस करते है | GUI में स्क्रीन बेतरतीब तरीके से भरी (clutter) होने पर नेविगेट करना कठिन हो जाता है ।

त्वरित समीक्षा

  • जीयुआई (GUI)क्या है? 
  • जीयूआई के फायदे और नुकसान (advantages and disadvantages) क्या हैं?

विंडोज 10 (Windows 10 ) पर्सनल कम्प्यूटर ऑपरेटिंग सिस्टम (personal computer operating system) का नवीनतम वर्जन है, जिसे माइक्रोसोफ्ट (Microsoft) ने डवलप किया है। यह ऑपरेटिंग सिस्टम (OS) विंडोज NT परिवार का हिस्सा है और विंडोज 7, 8.1 वर्जन का नया वर्जन है। यह अधिकारिक रूपसे 29 जुलाई 2015 को रिलीज किया गया । माइक्रोसोफ्ट विंडोज के पुराने प्रचलित वर्जन Windows 8/8.1, Windows 7, Windows Vista, Windows XP, Windows ME, Windows 2000, Windows 98, Windows NT, Windows 95 and MS DOS है।

3.2.1 विण्डो 10 इन्टरफैस को समझना (Understanding Windows 10 User Interface)

कम्प्यूटर को बूट करना (Booting a Computer): कम्प्यूटर को शुरू और रिस्टार्ट करना बूटिंग कहलाता है । कोल्ड बूट (Cold boot) एक तरीका है, जिसमें कम्प्यूटर पावरलैस स्टेट (powerless state) से स्टार्ट होता है। विभिन्न प्रकार के की कोम्बीनेशन (key combinations) और मैन्यू (Menu) के द्वारा कम्प्यूटर को रिबूट (key combinations) करना वार्म बूटिंग (Warm Booting) कहलाता है ।

डेस्कटाप एरिया (Desktop Area): 

कम्प्यूटर में लोगिंग (Login) करने के बाद जो एरिया (Screen) दिखाई देता है उसे डेस्कटॉप कहते हैं। यह डेस्कटॉप बैकग्राउण्ड पिक्चर (वॉलपेपर), आइकन और टॉस्कबार (Taskbar) का समूह होता है । आप इस पर अपने अनुसार कई एप्लीकेशन के शार्टकट (Shortcut) रख सकते हैं, डेस्कटॉप का वालपेपर (wallpaper) भी परिवर्तित कर सकते है तथा और भी बहुत से कार्य कर सकते है |

टॉस्कबार (Taskbar ) :- 

यूजर इन्टरफैस के स्क्रीन के (नीचे की और ) बॉटम में एक बार (Bar) होती है जिसकी कई विशेषताएं होती है । माउस बटन को दबाये हुए ड्रैग करने पर इस बार को किसी भी इच्छित किनारे (edge) पर ले जाकर छोड़ने पर बार उसी जगह पर मूव हो जाती है इस बार को टॉस्कबार कहा जाता है । इस बार में स्टार्ट मेन्यू (Start Menu) होता है जिस्म आपके hard disk drive में संचित (stored) applications के शॉर्टकट होते है ।

चित्र 3.4 - विंडोज 10 डेस्कटॉप (Windows 10 Desktop)

आइकन (Icons): 

एक छोटी पिक्चर, जो कि एक प्रोग्राम ( Program), फोल्डर (Folder) अथवा प्रोग्राम फंक्शन (Program function) का प्रतिनिधित्व (represent) करती है, आइकन (Icon) होता है । डेस्कटॉप पर उपलब्ध इन छोटी पिक्चर को किसी टेक्सट के द्वारा एक नाम दिया जाता है, जिन्हें आइकॉन कहा जाता है। आईकंस (Icons) सामान्यतः के समूह को भी प्रोग्राम्स को रिप्रेजेंट करते है परन्तु कई बार यह डाटा प्रदर्शित करते है | आइकन पर डबल क्लिक (Double Click) करने पर उस आइकन के द्वारा जिस किसी का भी प्रतिनिधित्व (represent) करती है आप उसे देख सकते है ।

सिस्टम ट्रे ( System Tray) : 

बैकग्राउण्ड (background) में रन हो रहे प्रोग्राम को होल्ड करने के लिए जो आइकन होते है उन्हें सिस्टम ट्रे कहा जाता है | टास्क -बार के एक तरफ क्लॉक होती है । क्लॉक के नजदीक ही कई आइकन का समूह होता है जो ओपन अदृश्य (invisible) प्रोग्राम को रिप्रेजेन्ट करना है । इस एरिया को सिस्टम ट्रे कहते हैं। टास्क - बार के मुख्य हिस्से में कभी कभार आइकॉन का छोटा समूह होता है जिसे क्विक - लांच (Quick launch) बार कहा जाता है इन आइकॉन पर क्लिक करने पर सम्बंधित सूचना / प्रोग्राम खुल जाते है |

क्विक लॉन्च आइकन (The quick-launch icons):- 

ये आईकन भी बटन होते हैं। कुछ बटन वास्तविक बटन की तरह दिखाई देते हैं और कुछ तब दिखाई देते हैं जब कर्सर को उन पर रखते हैं। क्लॉक के दूसरी तरफ के बटन और सिस्टम ट्रे को स्टार्ट बटन कहते हैं। जब स्टार्ट बटन पर क्लिक करते हैं तो स्टार्ट मेन्यू खुल जाता है। स्टार्ट मेन्यू में कई प्रोग्राम के मेन्यू और डेटा का कलेक्शन होता है।

शॉर्टकट आइकन ( Shortcut Icon ) :- 

आइकन को दर्शाने (represent) के लिए जो लिंक होता है उसे ही शार्टकट आइकन कहा जाता है डेस्कटॉप पर स्थित आइकन, क्विक लॉन्च बार और स्टार्ट मेन्यू के शार्टकट अक्सर इसमें शामिल होते हैं। डेस्कटॉप पर शॉर्टकट आइकॉन के ऊपर एक छोटे सिंबल की मदद से अक्सर प्रदर्शित रहते है। आइकन सभी डेटा समूह तथा प्रोग्राम को रिप्रेजेंट करते है चाहे वो शोर्टकट्स हो या न हो । सामान्यतः डेस्कटॉप पर और स्टार्ट पर स्थित आइकन का शार्टकट होता है। जबकि डेस्कटॉप पर उपलब्ध तथा स्टार्ट- मेन्यु में प्रदर्शित सामान्यत: शॉर्टकट होते है | 

स्टार्ट मेन्यू (Start Menu):- 

Windows 8, Windows 8.1 में स्टार्ट मेन्यू नहीं था, बाद में इसे कुछ सुधार कर Windows 10 में लाया गया है, इसके साथ ही एक space दिया गया है जिसके द्वारा आप अपने फेवरेट एप , (App), प्रोग्राम log और वेबसाइट को इन्क्लुड कर सकते है | स्टार्ट मेन्यू (Start Menu) के लिए टॉस्कबार के सबसे नीचे बाये कार्नर पर स्थित स्टार्ट को सलेक्ट करके ओपन कर सकते हैं । की-बोर्ड (Key Board) और अन्य कोई डिवाइस पर स्थित स्टार्ट बटन को प्रेस करके स्टार्ट मेन्यू को ऑपन किया जा सकता है।

अकाउन्ट आप्शन ( Account Option) : 

अकाउन्ट नाम पर क्लिक करके अपने अकाउन्ट पिक्चर को बदल सकते है । आप डिवाइस को लॉक और अकाउन्ट को साइन आउट कर सकते हैं ।

पॉवर (Power): 

इस बटन पर क्लिक करके आप अपनी डिवाइस को स्लीप मोड (Sleep mode) अथवा डिवाइस को शट डाउन ( Shut Down ) और रिस्टार्ट (Re-start ) कर सकते हैं ।

क्विक लिंक और बार बार प्रयोग किये जाने वाले एप्स (Quick link and frequent used apps) : 

स्टार्ट मेन्यू के बांयी ओर आप पीसी सेटिंग (PC Setting) में क्विक लिंक और टॉप (Top) पर डाक्यूमेंट (Document) और फाईल एक्प्लोरर (File Explorer) को पायेंगे । यह सेक्शन बार बार प्रयोग में लिये गये एप्स और प्रोग्राम की सूची के नीचे होता है। यदि आप प्रोग्राम के आगे ऐरो (Arrow) देखते हैं तो तात्कालिक (Recent) प्रयोग किये गये फाइल और प्रोग्राम्स की सूची को माउस को उनके ऊपर ले जाकर देख सकते हैं।

आल एप्स (All apps) : 

ऑल एप्स पर क्लिक करते हुए सभी एप्स को और प्रोग्राम को अल्फाबेटिक (Alphabetic) देख सकते हैं। किसी विशेष एप को ढूंढने के लिए सर्च बॉक्स (Search Box) में जाकर ढूंढ सकते हैं ।

सर्च (Search) :- 

आप सर्च आप्शन के माध्यम से अपने डिवाइस में, क्लाउड स्टोरेज में, वेब पर एक साथ सर्च कर सकते हैं । सर्च करने के लिए स्टार्टमेन्यू को ऑपन करके (Open start menu), सर्च बॉक्स में टाइप कीजिए जिसे आप सर्च करना चाहते है । टॉस्कबार से भी डायरेक्टली (Directly) सर्च किया जा सकता है| Windows 10 में सर्च बटन के प्रयोग के द्वारा किसी भी प्रकार की हेल्प (Help ) ले सकते है। इसके लिए आपको की-बोर्ड (Key Board) और प्रश्न टाईप करना है और उससे सम्बन्धित लिंक डिस्प्ले हो जाएगा ।

फेवरेट एप को पिन करना (Pin your favorite apps):- 

जिन एप्स, प्रोग्राम्सको आप फास्ट एक्सेस करना चाहते है । उन्हें स्टार्ट मेन्यू पर पिन कर सकते है | ऐसे एप जो लाइव टाइल (Live Tiles) है आपको आपसे सम्बंधित लोग तथा प्रोडक्ट के बारे में तात्कालिक अपडेट प्रदर्शित करते है | स्टार्ट पर क्लिक करो, ऑल एप्स को सलेक्ट करके जिस एप को आप पिन करना चाहते हो उस पर दांयी क्ल्कि करो और अब स्टार्ट करने के लिए पिन को सलेक्ट कीजिए। एक बार पिन करने के बाद, आपका एप दांयी और फाइल की तरह दिखाई देता है । साइज को बदलने के लिए टाइल दांयी क्लिक और मूव करने के लिए ड्रैग और ड्रोप कीजिए | अगर जगह कम भी पड़ रही है तो आप चिंता न करें स्टार्ट मेनू स्वतः ही अपने आप को एडजस्ट कर सभी के अनुरूपरी-साइज़ हो जाता है |

उपयोगी टिप्स

  • टिप: जीयूआई (GUI)पर विभिन्न कार्यों के लिए शॉर्टकट कुंजी (shortcut keys) याद रखें उदाहरण के लिए Windows + D कुंजी का उपयोग करके, आप सीधे डेस्कटॉप क्षेत्र को देख सकते हैं।

टास्क-व्यू (Task view): 

अगर आपने कई app तथा प्रोग्राम खोल रखें है तो एक नया टास्क व्यू बटन उपलब्ध होता है जिससे की आप ओपन प्रोग्राम्स की विंडो के बीच स्विच कर सकें | सभी running App तथ प्रोग्राम्स को देखने के लिए टास्क-व्यू पर क्लिक करें उसके पश्चात् किसी भी आइटम को खोलने के लिए उस पर क्लिक करें

चित्र 3.5: टॉस्क व्यू बटन (Task View Button)

उपयोगी जानकारी

  • मल्टीटॉस्किंग ((Multitasking) और मल्टीप्रोसेसिंग (Multiprocessing ) के बीच अन्तर होता है। मल्टी टॉस्किंग एक method है जहां पर कई टास्क / प्रोसेसेज कॉमन प्रोसेसिंग रिसार्स (common processing resources) जैसे CPU को शेयर करते है जबकि मल्टीप्रोसेसिंग एक प्रोसेसिंग मोड (processing mode) है जिसमें दो या उसे ज्यादा प्रोग्राम्स एक से अधिक CPU (multiple CPUs) की मदद से एक साथ प्रोसेस या रन किये जाते है ।


मल्टीपल डेस्कटॉप (Multiple desktops): अगर आप कई प्रोजेक्ट, अलग अलग एप तथा प्रोग्राम का उपयोग करते हुए एक साथ कार्य कर रहे है तो आपको डेस्कटॉप जोड़ने का प्रयास करना चाहिए | इसकी मदद से आप सभी चीजो को सुन्दरता से व्यवस्थित कर सकते है | आप घर पर कार्य करने हेतु अलग तथा ऑफिस में कार्य करने हेतु अलग डेस्कटॉप का प्रयोग कर सकते है | टास्क - बार से टास्क व्यू (Task View) का चयन कर डेस्कटॉप ऐड (Add) करें | टॉस्क व्यू (Task View) पेज के Bottom (निचे की ओर) थम्बनेल (Thumbnail) दिखाई देगा। ब्लेंक थंबनेल (Blank Thumbnail) पर क्लिक कर आप एक बिलकुल नया डेस्कटॉप खोल सकते है। डेस्कटॉप के बीच स्विच करने के लिए टास्क व्यू (Task View) पर क्लिक कर इच्छित डेस्कटॉप का चयन कर सकते है

माइक्रोसॉफ्ट ऐज ( Microsoft Edge): 

Windows 10 में इन्टरनेट एक्सप्लोर (Internet Explorer) को माइक्रोसॉफ्ट एज ब्राउज़र (Microsoft Edge Browser) के द्वारा रिप्लेस किया गया है, इसे डिफाल्ट ब्राउज़र (Default Browser) बनाया गया है । माइक्रोसॉफ्ट ऐज पहला ऐसा ब्राउजर है जो आपको सीधे ही वेब पेज पर नोट लिखना, डूडल (doodle) तथा वेबपेज पर हाईलाइट करने में समर्थ बनाता है। किसी आर्टिकल (Article) को सेव (save) करने के लिए रिडिंग लिस्ट आइकन (reading list icon) का प्रयोग किया जाता है जिसके द्वारा हम उस सेव किये गये आर्टिकल को बाद में रिडिंग व्यू आइकन (Reading View Icon) से पढ़ सकते है। किसी ओपन टैब पर होवर (Hover) के द्वारा उसके प्रीव्यू (Preview) देखे जा सकता है अगर आप माइक्रोसॉफ्ट ऐज (Microsoft edge) को किसी अन्य डिवाइस पर प्रयोग कर रहे हो तो भी फेवरेट तथा रीडिंग लिस्ट के साथ उन्हें एक्सेस कर सकते है

विण्डो स्टोर (Windows Store): 

आप विंडोज स्टोर से वीडियो, गेम्स और एप्स को डाउनलोड कर सकते हो । इसका आइकन टॉस्कबार में होता है।

कोरटाना (Cortana): 

माइक्रोसॉफ्ट वायस पावर्ड पर्सनल असिस्टेंट (voice powered personal assistant) को Windows 10 ऑपरेटिंग सिस्टम (OS) के साथ लान्च किया गया है। कोरटाना को कॉन्फ़िगर (Configure) करके सर्च बॉक्स की तरह इस्तेमाल किया जा सकता है |

चित्र 3.6 विण्डो स्टोर ( Windows Store)

त्वरित समीक्षा

  • स्टार्ट मेन्यू (Start Menu) का प्रयोग करते हुए कौनसे ऑपरेशन किए जा सकते है? 
  • टॉस्कबार (Taskbar ) का क्या प्रयोग है?

Input पैनल का प्रयोग कर सकते हैं। यह पैनल प्रोसेस को आसान तथा नेचुरल बना देता है। यहां इनपुट पैनल, Windows10 के इन-बिल्ट फीचर मैथ रिकागनाइजर (math recognizer) का प्रयोग करता है जो कि हाथ से लिखे गये मैथ एक्सप्रेशन ( math expressions) को पहचानता है। इसके पश्चात् आप रेकोगनाइज़ मैथ को किसी वर्ड प्रोसेसिंग प्रोग्राम या कम्प्यूटेशन में प्रयोग कर सकते 1

स्निप्पिंग टूल (Snipping Tool):

स्निप्पिंग टूल की मदद से आप स्क्रीन पर किसी भी ऑब्जेकट (Object) का स्क्रीन शॉट /स्निप कैप्चर (Snip Capture) कर सकते है तथा उसे ऐनोटेट (annotate), सेव (Save) अथवा एक इमेज की तरह शेयर कर सकते है । निम्न प्रकार के स्निप्स को कैप्चर कर सकते हैं:

फ्री फॉर्म स्निप ( Free-form Snip): 

एक ऑब्जेक्ट के चारो और फ्री फॉर्म शेप ड्रा करना 1

रेक्टंगुलर स्निप ( Rectangular Snip) : 

ऑब्जेक्ट के चारो और कर्सर को ड्रैग कर रेक्टेंगल फॉर्म करना 1

विंडो स्निप ( Window Snip) : 

विंडो को सेलेक्ट करे जैसे की ब्राउज़र विंडो या डायलाग बॉक्स विंडो को जिसे आप कैप्चर करना चाहते |

फुल-स्क्रीन स्निप (Full-screen Snip): 

इसके द्वारा पूरी स्क्रीन को कैप्चर कर सकते है ।

विंडोज मोबिलिटी सेण्टर (Windows Mobility Center)

चित्र 3.7 विण्डोज 10 में विण्डो मोबिलिटी सेन्टर (Windows Mobility Center in Windo 10)

आप विण्डो मोबिलिटी सेन्टर के सहयोग से (उदाहरण के तौर पर स्पीकर की आवाज, वायरलेस नेटवर्क कनेक्शन स्टेट्स और डिस्प्ले की ब्राइटनेस (for example, speaker volume, wireless network connection status, and display brightness ) आदि के सेटिंग्स को आसानी से एक्सेस कर सकते है। क्योंकि ये सभी सेटिंग एक ही लोकेशन पर होती है इससे आपका समय बचेगा और आपको प्रत्येक सेटिंग की लोकेशन को याद नहीं रखना पडेगा ।

विण्डो मोबिलिटी सेन्टर (Windows Mobility Center) को ओपन करने के लिए एसेसिरीज मेन्यू (accessories menu) में विण्डो मोबिलिटी सेंटर पर क्लिक करें । मोबिलिटी सेन्टर अधिकतर प्रयोग की जाने वाले लेपटॉप सेटिग जैसे कि ब्राईटनेस, वौल्यूम, बैटरी स्टेटस और वायरलेस नेटवर्क स्टेटस को दिखाता है। कुछ सेटिंग्स निम्न है, जिन्हे आप मोबिलिटी सेन्टर में पायेगे:

ब्राईटनेस (Brightness ) : 

स्लाडर ( Slider) को मूव करके डिस्पले (Display) की ब्राईटनेस (Brightness) को एडजस्ट (Adjust) कर सकते है। आपके कंप्यूटर में पॉवर प्लान (Power plan) के अंतर्गत डिस्प्ले ब्राइटनेस सेटिंग (Brightness setting ) को एडजस्ट करने हेतु आइकॉन पर क्लिक कर पॉवर आप्शन को खोले

वाल्यूम (Volume) : 

स्लाइडर को मूव करके लेपटाप के स्पीकर वैल्यूम को एडजस्ट कर सकते है या म्यूट चेक बॉक्स (Mute Check को चेक (Click) कर सकते है। Box )

बैटरी स्टेटस ( Battery Status ) : 

यह बताता है कि बैटरी में कितना चार्ज बचा हुआ है अथवा लिस्ट से पावर प्लान को सेलेक्ट करता है ।

वायरलेस नेटवर्क (Wireless Network): 

यह नेटवर्क कनेक्शन के स्टेटस को बताता है अथवा आप नेटवर्क एडाप्टर (Network Adapter) को ऑन ऑफ कर सकते है।

स्क्रीन रोटेशन (Screen Rotation): 

आपके टेबलेट पीसी (Tablet PC) की स्क्रीन का ओरिएंटेशन (Orientation) पोट्रेट से लैंडस्केप (Potrait to Landscape) और इसका उल्टा बदल सकते है |

एक्सर्टनल डिस्प्ले (External Display): 

लेपटॉप से आप एक अतिरिक्त मॉनीटर जोड़ सकते है या डिस्प्ले सेटिंग को कस्टमाइज (Customize) कर सकते है

सिंक सेन्टर ( Sync Centre) : 

इसके द्वारा फाइल सिंक के स्टेटस को देखना, नये सिंक को शुरूकरना, सिंक पार्टनरशिप को सेट अप अथवा सिंक सेन्टर में सेटिंग को बदल सकते है ।

पेन्ट (Paint): 

पेंट एक ड्राइंग प्रोग्राम है इसके द्वारा आप ड्राइंग को बना सकते है और डिजिटल पिक्चर (Digital Picture) को मैनेज कर सकते हो । आप पेंट प्रोग्राम की मदद से पिक्चर फाइल्स (Picture files) को अन्य फाइल फॉर्मेट (file format) में सेव भी कर सकते  है ।

सिस्टम टूल्स (System tool): 

सिस्टम टूल्स की मदद से डिस्क पर उपस्थित अनावश्यक (Unnecessary) फाइल को डिलीट किया जा सकता है और डिस्क को फ्रेगमेंट (Fragment) कर सिस्टम की दक्षता (performance ) को बढाया जा सकता है इसके लिए डिस्क डिप्रेगमेन्टर (Disk Defragmenter) और डिस्क क्लीन अप (Disk Cleanup ) टूल्स का प्रयोग किया जाता है 

त्वरित समीक्षा

  • Windows 10 में कौनसी accessories होती है?
  • डिस्क क्लीन अप (Disk Cleanup) और डिफ्रग् मेंटेशन (Defragmenter) क्या है ?
  • मैथ इनपुट पैनल (Math Input Panel) के द्वारा क्या कर सकते है?

3.4 विंडोज / फाइल एक्स्प्लोरर (Windows/File Explorer) 

जब आप किसी फोल्डर को ओपन करते हो तो जो विण्डो दिखाई देती है उसे विंडोज एक्सप्लोर या फाइल एक्सप्लोर कहा जाता है ।

चित्र 3.8: फाइल एक्सप्लोर विंडो (File Explorer window)

3.4.1 डायरेक्टरी स्ट्रक्चर एवं पाथ (Directory Structure and Paths)

एक फाईल या डाक्यूमेंट, डेटा का कलेक्शन होता है जिसका एक नाम होता है और जो कम्प्यूटर में स्टोर (Store) होती है । हम फाइल को फोल्डर में रख कर व्यवस्थित (Organize) रख सकते हैं। डिस्क (Disk) में फोल्डर होते हैं जिनमे कि डाक्यूमेंट (Document) को रखा जाता है, फ्लोपी डिस्क, जीप डिस्क, काम्पैक्ट डिस्क, हार्ड डिस्क (Floppy disks, Zip disks, Compact Discs (CDs), Hard Disks) आदि में फाइल को स्टोर कर सकते हैं। इन डिस्क को ड्राइव में इन्सर्ट (Insert) किया और हटाया (Remove) जा सकता है । विन्डोज (Windows), फोल्डर (Folder) और फाइल (file) को, एक Hierachy या फाइल सिस्टम में रखता है। विन्डोज उन फोल्डर और फाईल को स्टोर करके रखता है जिन्हें कम्प्यूटर को शुरूकरने पर रूटडायरेक्ट्री (Root Directory) में एक्सेस करने की आवश्यकता होती है । फोल्डर जो कि अन्य फोल्डर में होते हैं उन्हें सब फोल्डर (Subfolder) कहा जाता है। 

चित्र 3.9 फाईल को मैनेज करना (Managing the files) 

जिस तरह की डिस्क आप फाइल को स्टोर करने में उपयोग में लेते हो वो यह बताती है कि आप उन फाइल को कैसे व्यवस्थित (Organize) रखना चाहते हो | यदि आप किसी रिमूवेबल मीडिया (Removable Media) फाइल स्टोर करना चाहते हो तो सिम्पल ऑर्गानाइजेशन (Simpler Organization) का इस्तेमाल करना पड़ेगा, यदि मीडियम बड़ा हो तो फोल्डर (Folder) के कई लेवल्स के कई लेवल्स (Levels) हो सकते है । माई डाक्यूमेंट (My Document) फोल्डर से हम फाइल का बैकअप (Backup) अथवा डुप्लीकेट कॉपी और आवश्यक फाईल ले सकते हैं।

चित्र 3.10 विंडोज में फाइल्स को मैनेज करना (Managing files in windows)

3.4.2 फाइल, फोल्डर और शोर्टकट्स के साथ काम करना (Working with Files/Folders/Shortcuts)

विंडोज एक्सप्लोरर (Windows Explorer) आपके कम्प्यूटर में फाईल्स, फोल्डर और ड्राईव दिखाता है । कम्प्यूटर पैन (Panes) में एक्सप्लोरर बार (Explorer Bar), फोल्डर पैन (Folder Pane), एक्सपेण्ड आइकन (Expand Icon), कोलेप्स आईकन्स (Collapse Icon) होते हैं। माई कम्प्यूटर (My Computer) आपके कम्प्यूटर की ड्राईव (Drives) को दिखाता है।

चित्र 3.11 फोल्डर के साथ कार्य करना (Working with folder)

शॉर्टकट आईकन्स (Shortcuts Icons): 

आइकन को रिप्रेजेन्ट (Represent) करने के लिए जो लिंक होता है, उसे ही शार्टकट आइकन कहा जाता है डेस्कटॉप पर स्थित आइकन (Icon), क्विक लॉन्च बार (Quick-launch bar)और स्टार्ट मेन्यू (Start Menu) अक्सर शार्टकट में शामिल होते हैं। डेस्कटॉप पर शॉर्टकट आइकॉन के ऊपर एक छोटे सिंबल की मदद से अक्सर प्रदर्शित रहते है | आइकन सभी डेटा समूह तथा प्रोग्राम को रिप्रेजेंट करते है चाहे वो शोर्टकट्स हो या न हो । सामान्यतः डेस्कटॉप पर और स्टार्ट पर स्थित आइकन का शार्टकट होता है। जबकि डेस्कटॉप पर उपलब्ध तथा स्टार्ट- मेन्यु में प्रदर्शित सामान्यत: शॉर्टकट होते है |

उपयोगी टिप्स

  • आईकन (Icon) और शार्टकट (Shortcut) में अन्तर होता है। एक आइकन कोई भी पिक्चर हो सकती है जो उसके बारे में बताती है | स्टार्ट बटन (Start Button) पर स्थित आइकन (Icon), विण्डो (Window) के अधिकतर भाग को रिप्रेजेन्ट करते है जबकि शार्टकट, प्रोग्राम और डेटा कलेक्शन का लिंक होता है ।

चित्र 3.12 विंडोज में फोल्डर्स को मैनेज करना (Managing folders in windows)
चित्र 3.13 विंडोज में माई डाक्यूमेंट फोल्डर (My Documents folder in windows)

एक फाइल का पाथ आपके कंप्यूटर में फाइल की लोकेशन को इंगित करता है 
जैसे D:\FM\Tutorial\ Holiday.bmp 

  1. D : ड्राइव का नाम है | 
  2. FM, ड्राइव D: में टॉप-लेवल का फोल्डर है 
  3. Tutorial एक सब-फोल्डर है FM फोल्डर में 
  4. Holiday.bmp फाइल का सम्पूर्ण नाम फाइल एक्सटेंशन के साथ है

चित्र 3.14  विंडोज में विभिन्न फाइल्स का प्रबंधन (Managing different files in windows)

विण्डो एक्सप्लोर (Windows Explorer) के इस्तेमाल से फोल्डर्स (Folders) को बनाया जा सकता है । इसके लिये मेन्यू बार (Menu Bar) पर स्थित फाइल पर क्लिक (Click) कीजिए, सबमेन्यू (Submenu) को डिस्प्ले के लिए न्यू (New) को पाइन्ट कीजिए और इसके बाद फोल्डर पर क्लिक कीजिए ।

चित्र 3.15 विंडोज 10 में फोल्डर नाम (Folder name in Windows 10)

रिसाईकिल बीन (Recycle Bin) : 

यह फोल्डर आपके द्वार डिलीट (delete) की गई फाईल्स और फोल्डर्स को टैम्पररी स्टोर करता है। रिसाइकिल बिन (Recycle Bin) से डिलीट की गई फाइल और फोल्डर्स को एक्सेस (access) नहीं किया जा सकता क्योंकि वो परमानेट डिलीट (Permanent Delete) हो जाती है ।

उपयोगी टिप्प

  • टिप: शिफ्ट + डिलीट (Shift+Delete) की (Key) के द्वारा फाईल / फोल्डर को परमानेन्ट डिलीट किया जा सकता है।

त्वरित समीक्षा 

  • फाईल और फोल्डर (File and Folder) के बीच क्या अन्तर है? 
  • डेस्कटॉप (Desktop) पर सेव ( Save) किये गए फाईल/फोल्डर का पाथ (Path) क्या होता है ? 
  • स्क्रोलबार (Scroll bar) का प्रयोग क्या है? 

3.5 एक अनुप्रयोग / एप्लीकेशन शुरू करना (Starting an Application)

विंडोज़ (Windows) 10 में बुनियादी अनुप्रयोगों / उपयोगिताओं (applications/utilities) का निर्माण किया गया है। किसी भी application को शुरूकरने के लिए आप उसके आइकन पर क्लिक कर सकते हैं (यदि डेस्कटॉप पर दिखाई दे ) या फिर आप खोज बॉक्स (Search Box ) में इंस्टॉल (Install) किए गए एप्लिकेशन का नाम टाइप कर सकते हैं और एप्लिकेशन पर क्लिक कर सकते हैं। उपलब्ध कुछ सामान्य अनुप्रयोग/एप्लीकेशन नीचे दिए गए हैं:

3.5.1 वर्डपैड (WordPad)

वर्डपैड (WordPad) मूलरूपसे फोर्मटिंग (Formatting), विकल्पों युक्त एक वर्ड प्रोसेसिंग (Word Processor) सॉफ्टवेयर है, और यह विंडोज (Windows) 95 के बाद से ओएस OS के सभी संस्करणों (Versions) में शामिल है। वर्डपैड का उपयोग विंडोज 10 में करने के लिए, टास्कबार Task bar में वर्डपैड टाइप करें, और परिणाम पर क्लिक करें। यह वर्डपैड खोल देगा ।

चित्र 3.16: विंडोज़ 10 में वर्डपैड (Word Pad in Windows 10)

वर्डपैड को खोलने के लिए, आप रन कमांड write.exe का भी उपयोग कर सकते हैं। प्रेस WinKey + R, अथवा लिखें write.exe या wordpad.exe और एंटर दर्ज करें ।

3.5.2 माइक्रोसॉफ्ट पेंट (Microsoft Paint) 

माइक्रोसॉफ्ट पेंट खोलने के लिए टास्कबार पर search बॉक्स में पेंट (Paint) लिखें और फिर परिणाम की सूची से पेंट चुनें ।

चित्र 3.17: विंडोज़ 10 में पेंट (Paint in Windows 10)

3.5.3 टाइपिंग प्रैक्टिस (Typing Practice)

चित्र 3.18 : टाइपिंग के लिए कीबोर्ड पर फ़िंगर प्लेसमेंट ( Finger placement on Keyboard for Typing)

टाइप नहीं करते समय, प्रत्येक उंगली कुंजीपटल की होमपंक्ति (Home row) में किसी विशेष कुंजी (Particular Key) पर टिकी हुई है, ताकि हर समय “ग्राउंडएड" (Grounded) और उन्मुख (Oriented) रख सकें। होम कुंजियाँ home keys (ASDF JKL) ऊपर दी गई चित्र (diagram) पर रेखांकित हैं। अंगूठे हवा में रहते हैं, या बहुत धीरे नीचे की कुंजियो के संपर्क में।

अंगूठे को स्पेस बार (Space Bar ) के लिए उपयोग किया जाता है, और आपके कुंजीपटल के आकार के आधार पर "कमांड" (एप्पल कंप्यूटर) या "विंडोज़" (पीसी) कुंजी के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

3.6 एक फाइल / फोल्डर को कॉपी/पेस्ट / रीनेम करना (Copy/Paste/Rename a File or Folder) 

हम फाइल और फोल्डर्स को कॉपी (Copy) और मूव (Move) कर सकते हैं फाईल को मूव करने का मतलब करन्ट लोकेशन (Current Location ) से फाईल को हटाकर नई लोकेशन पर रखना। दोनों लोकेशन में फाइल को कॉपी भी कर सकते हैं ।

चित्र 3.19 विंडोज 10 में आइकन्स को एक्सपेंड या कोलेप्स करना (Expand and collapse icons in windows 10)

हम फाइल का नाम (Name) रख सकते हैं और उसका नाम बदल (Rename) भी सकते हैं। फ़ाइल नाम (file name) फ़ाइल के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करती है जिसमें इसकी सामग्री और उद्देश्य शामिल हैं एक फ़ाइल नाम एक्सटेंशन (filename extension) फ़ाइल के प्रकार को बताता है और वह प्रोग्राम इंगित (Indicate) करता है जिसमें फ़ाइल बनाई गई थी ।

त्वरित समीक्षा

  • कुंजीपटल (Keyboard) पर टाइप करने के लिए उंगलीयों की आदर्श स्थिति (Ideal finger position)क्या है? 
  • फ़ाइल / फ़ोल्डर (File / folder) को एक स्थान से दूसरे स्थान पर कॉपी (copy) कैसे करें? 
  • आप एक फ़ाइल / फोल्डर का नाम कैसे बदल ( rename) सकते हैं?

3.7 एंटीवायरस के द्वारा एक फाइल / फ़ोल्डर स्कैन करें (Scan a File / Folder with antivirus ) 

नॉर्टन, क्विकहील, अवीरा, केस्पर्सकी (Norton, QuickHeal, Avira, KasperSky ) जैसे कई एंटीवायरस एप्लिकेशन (antivirus application) बाजार में उपलब्ध हैं । आप अपने सिस्टम में किसी भी एप्लिकेशन को स्थापित (Install) कर सकते हैं और वायरस (Virus) के लिए अपने कंप्यूटर को स्कैन (Scan) कर सकते हैं । विंडोज (Windows) 10 में अंतर्निहित एंटीवायरस (built-in antivirus) समाधान (Solution) शामिल है जो पृष्ठभूमि (background) में चलता है जिसे विंडोज डिफेंडर (Windows defender) कहा जाता है ।

आप विंडोज़ डिफेंडर application को सर्च बॉक्स (Search Box) टाइप करके प्रदर्शित (displayed) एप्लिकेशन पर क्लिक करके नेविगेट (Navigate) कर सकते हैं।

जब जीयूआई (GUI) खुलता है, तो कस्टम स्कैन (custom scan) चुने और फिर “स्कैन करें" बटन पर क्लिक करें ।

चित्र 3.20: विंडोज डिफेंडर स्कैन (Windows Defender Scan) 

अब वह फ़ोल्डर चुनें जिसे आप स्कैन करना चाहते हैं, और फिर ओके (OK) पर क्लिक करें ।

चित्र 3.21: विंडोज डिफेंडर में कस्टम स्कैन के लिए फ़ोल्डर चयन (Folder selection for Custom Scan in Windows Defender)
चित्र 3.22: विंडोज डिफेंडर स्कैन प्रगति पर है (Windows Defender Scan in progress)

बहुविकल्पी प्रश्न (Multiple Choice Questions)

1) झूठे कथन को पहचानें:

  • (ए) आप रीसायकल बिन में हटाई गई फ़ाइलों को पा सकते हैं 
  • (बी) यदि आपको कभी ज़रूरत है तो रीसायकल बिन से किसी भी फाइल को पुनर्स्थापित कर सकते हैं 
  • (सी) आप रीसायकल बिन में फाइलें भेजकर डिस्क की रिक्त स्थान बढ़ा सकते हैं
  • (डी) आप ठीक क्लिक कर सकते हैं और खाली रीसायकल बिन को एक बार में साफ करने के लिए चुनें

2) निम्न में से कौन सा ऑपरेटिंग सिस्टम ग्राफिकल यूजर इंटरफेस का एक उदाहरण नहीं है? 

  • (ए) विंडोज 8.1 
  • (बी) मैक ओएस 
  • (सी) लिनक्स 
  • (डी) यूनिक्स

3) निम्न में से कौन सा एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर नहीं है ?

  • (ए) विंडोज एक्सपी 
  • (बी) वीएलसी मीडिया प्लेयर 
  • (सी) एडोब रीडर 
  • (डी) फोटोशॉप

4) टास्कबार का एक छोटा सा हिस्सा जिसमें पृष्ठभूमि में चलने वाले एप्लिकेशन के आइकन हैं और उस पर दिनांक और समय प्रदर्शित किया गया है:

  • (ए) स्टार्ट बटन 
  • (बी) क्विक लॉन्च
  • (सी) टास्क बार 
  • (डी) सिस्टम ट्रे

5) निम्न में से कौन सा ऑपरेटिंग सिस्टम मल्टीटास्किंग को वास्तव में लागू नहीं करता है? 

  • (ए) विंडोज 98 
  • (बी) विंडोज एनटी 
  • (सी) विंडोज एक्सपी 
  • (डी) एमएस डॉस

6) निम्न में से कौन से विंडोज़ में प्रारंभ बटन नहीं है: 

  • (ए) विंडोज विस्टा 
  • (बी) विंडोज़ 10 
  • (सी) विंडोज़ 8
  • (डी) ऊपर से कोई नहीं

7) निम्न में से कौन सा ऑपरेटिंग सिस्टम नहीं है?

  • (ए) डॉस 
  • (बी) लिनक्स 
  • (सी) विंडोज 
  • (डी) ओरेकल

8) एक ...................... उस डिस्क पर नामित स्थान है जहां फ़ाइलों को संग्रहीत किया जाता है:

  • (ए) फ़ोल्डर 
  • (बी) पोड 
  • (सी) संस्करण 
  • (डी) फ़ाइल समूह

9) विंडोज में स्टार्ट बटन का उपयोग इसके लिए किया जा सकता है: , 

  • (ए) एप्लिकेशन लॉन्च करना 
  • (बी) डिवाइस सेटिंग्स 
  • (सी) सिस्टम को बंद करना 
  • (डी) उपरोक्त सभी

10) जब भी आप एक स्थान से दूसरे स्थान पर एक डायरेक्टरी ले जाते हैं: 

  • (ए) निर्देशिका के अंदर की सभी फाइलों को स्थानांतरित किया जाता है 
  • (बी) उस निर्देशिका के अंदर सभी उपनिर्देशिका चले गए हैं 
  • (सी) निर्देशिका को स्थानांतरित किया जाता है, स्रोत फ़ाइल को नहीं 
  • (डी) ए और बी दोनों

प्रश्न सं- सही उत्तर 1- सी 2 डी 3 ए 4 डी 5 डी 6 - सी 7 डी 8 - ए 9 - डी 10 - डी 

Next Post Previous Post
No Comment
Add Comment
comment url